Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2015

सर्दियों किस प्रकार का भोजन हमें करना चाहिए, जो हमारी सेहत के ठीक रखें?

शीतकालीन ऋतू में हमे ऐसे खाद्य पदार्थ खाने चाहिए जो ठंड के दिनों में खाने में गर्माहट और आराम तो देते ही हों, लेकिन शरीर को आवश्यक पोषण भी प्रदान करते हों। सर्दियों में अदरक, तिल, घी, अलग अलग प्रकार के साग, मेवे, केसर, शहद, गुड़, खजूर, खस-खस, मौसमी फल सब्ज़ियां, लहसुन, अनेक प्रकार के दालें, दुग्ध पदार्थ (गर्म ), तुलसी इत्यादि का सेवन करना स्वास्थ के लिए अति लाभकारी होता है। सर्दियों में ऐसे खाद्य पदार्थ जिनकी प्रकृति ठंडी होती है (जैसे आइसक्रीम , कोल्ड ड्रिंक्स, कच्ची सब्ज़ियां इत्यादि ) उनसे बचना चाहिए। सर्दियों में अंडे-मांस के सेवन को भी बेहतरीन मन जाता है। चूँकि मैं स्वयं शाकाहारी हूँ इसीलिए मुझे इन खाद्य पदार्थों के बारे में कुछ खास जानकारी तो नहीं है, पर मैं यकीन से कह सकती हूँ कि शाकाहार में भी अनेकोनेक लाभकारी और पोषक तत्वों से भरपूर ढेर सारे खाद्य पदार्थ हैं जिनका सही तरह से सेवन कर के बेहद स्वस्थ जीवन जिया जा सकता है। उम्मीद करती हूँ आप सभी को यह जवाब पसंद आया होगा। (सर्दियाँ मेरा पसंदीदा मौसम है और मुझे गाजर के हलवे का साल भर इंतज़ार रहता है।)

Subscribe

* indicates required

You can Translate article here

How website mobile friendliness will AFFECT Google search result ranking

From 21st April 2015, Google will consider mobile-friendliness as a factor for ranking the website in the Google search results. Till now it was not the matter but now Google will strictly follow this. Mobile-Friendliness will be now a ranking signal for showing the search page results. Discover Tips is mobile-friendly So if your website is not friendly with mobile devices then it will be ranked lower than the websites which are mobile-friendly. Read : Google's New Feature for mobile devices-"Mobile Friendly" So it will highly affect your website traffic and reputation.

Farmers are dying but Indian politicians are busy in Politics

In Year 2015, due to unwanted rain and weather, crops of farmers were harmed. Due to which, they are not able to sell them and nurture their families. The financial stress is causing them to commit suicide but central government and state governments are just saying the same dialogue- "We will do something". Gajendra Singh Suicide Case

Past Trending Posts